बेहतर काम करने वाले अफसरों को मिलेगा तोहफा!

0
20

ग्वालियर । नोटबंदी के बाद भी परिवहन विभाग ने पहली बार समय से पहले राजस्व का लक्ष्य को पार कर लिया। इस लक्ष्य को पार करने के कारण परिवहन अधिकारियों ने राहत की सांस ली है। वैसे अभी भी विभाग के पास दो दिन का समय है। राजस्व टारगेट पूरा होने पर परिवहन आयुक्त ने प्रवर्तन अमले को बधाई देते हुए कहा कि लक्ष्य सभी के प्रयास से ही पूरा हो सका है। मार्च माह समाप्त होने के बाद समीक्षा होगी ओर बेहतर काम करने वालों को तोहफा मिल सकता है जबकि फिसड्डी रहने वालों पर कार्रवाई हो सकती है। 29 मार्च तक परिवहन विभाग ने 2200.08 करोड़ क ी राजस्व वसूली क र ली, जिसमें केंद्र से मिलने वाला 161 करोड़ अलग है।
परिवहन आयुक्त डॉ. शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि जो राजस्व लक्ष्य शासन ने दिया था, उसको पूरा करने के लिए सभी परिवहन अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने अथक प्रयास किया, क्योंकि कोई भी काम सफल तब होता है जबकि सामूहिक प्रयास किए जाते है। उन्होंने बताया कि खुशी इस बात की है कि यह काम तब पूरा हुआ, जब नोटबंदी हुई ओर कुछ समय के लिए चेकपोस्ट से राजस्व वसूली बंद कर दी गई थी।
चलाया विशेष चैकिंग अभियान वसूला 146 करोड़ राजस्व
वित्तीय साल में सड़क दुर्घटनाओं को कम कम करने के उद्देश्य से परिवहन एवं पुलिस विभाग ने संयुक्त रूप से समय-समय पर विशेष चैकिंग अभियान चलाया। इस अभियान के दौरान चालानी कार्रवाई से 6.49 करोड़ की राशि जुर्माने के रूप में मिली। चैकिंग के दौरान यह भी सुनिश्चित किया गया कि कोई भी ओवरलोड वाहन न चले साथ ही आपातकालीन खिड़की, दो दरवाजे, प्रदूषण प्रमाण पत्र एवं फिटनेस आवश्यक मिले। इस अभियान में परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह, प्रमुख सचिव, परिवहन आयुक्त एवं अपर परिवहन आयुक्त प्रवर्तन ने स्वयं सड़को पर खड़े होकर वाहनों की चैकिं ग करने का काम किया था। चैकिंग से प्रवर्तन अमले ने146 करोड़ का राजस्व वसूला गया।
पहली बार बेहतर हुई बकाया वसूली
परिवहन विभाग ने वित्तीय साल 2016-17 को ओल्ड एरियर्स एंड ऑडिट रेवेन्यू रिकवरी ईयर घोषित किया था। विभाग ने कार्ययोजना बनाकर काम किया तो पहली बार 193.27 करोड़ की राशि बकाया वसूली के रूप में विभाग को मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here